news-details
State

Vikas dubey कांड की जांच करेगा न्यायमूर्ति श्रीकांत अग्रवाल आयोग

उत्तर प्रदेश का कानपुर बीते 10 दिनों से काफी सुर्खियों में है इसका कारण है मोस्ट वांटेड विकास दुबे हाल ही में 8 पुलिसकर्मियों का हत्यारा विकास दुबे का एनकाउंटर कर दिया गया जिसके बाद तमाम तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं विपक्ष की माने सुर विकास दुबे का एक किया हुआ एनकाउंटर फेक है जिसकी जांच की मांग करी जा रही थी, अब विकास दुबे कांड की संपूर्ण जांच का जिम्मा न्यायमूर्ति श्रीकांत अग्रवाल आयोग के हाथों में आ गया है।

 यह भी पढ़े : लखनऊ में फैला टिड्डियों की आतंक, घंटाघर के पास दिखा झुंड

आपको बता दें कि उठते सवालों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकास दुबे कांड की जांच करने के लिए 2 टीम बनाई है जिसमें एक टीम ने अपर मुख्य सचिव भूसरेड्डी के नेतृत्व में कानपुर के विक्रम गांव जाकर पुलिस से विकास दुबे के गैंग के साथ हुई मुठभेड़ की जांच शुरू कर दी है वही दूसरी टीम विकास दुबे के एनकाउंटर की सच्चाई की जांच करेगी।

वहीं प्रदेश सरकार ने विकास दुबे मामले में एक सदस्य आयोग का भी गठन किया है यह आयोग विक्रम गांव में मुठभेड़ और एनकाउंटर की गहनता से जांच करेगी एक सदस्य आयोग में इलाहाबाद हाईकोर्ट के सेवानेतृत्व श्रीकांत अग्रवाल को रखा गया है जिसका मुख्यालय कानपुर में रखा जा रहा है बनाई गई आयोग को अपनी जांच की रिपोर्ट आने वाले 2 महीनों में देनी पड़ेगी।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments