news-details
State

CBI की महाराष्ट्र में NO Entry, ठाकरे सरकार के फैसले पर भाजपा ने उठाए सवाल

महाराष्ट्र के सत्ता में बैठे उद्धव ठाकरे की सरकार ने केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए एक अहम फैसला लिया है ठाकरे सरकार ने राज्य में मामले की जांच के लिए बुधवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो को दी गई जिसकी आम सहमति अगले दिन ही आपस में ले ली गई।

यह भी पढ़े : सीबीआई से सुशांत सिंह केस की जानकारी हुई लीक ? हाई कोर्ट को दिया जवाब कहा

जिसके बाद से अब सीबीआई महाराष्ट्र में किसी भी केस की सीधी जांच शुरू नहीं कर सकती हैं सीबीआई को हर केस की जांच के लिए नए सिरे से राज्य सरकार की इजाजत लेनी होगी इस फैसले को टीआरपी के से जोड़ कर दिखाया जा रहा है,आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टीआरपी घोटाले का भंडाफोड़ मुंबई पुलिस ने किया था लेकिन ऐसे ही एक मामला एक विज्ञापन कंपनी के प्रमोटर की शिकायत पर लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन में भी दर्ज किया गया था उसकी जांच उत्तर प्रदेश सरकार ने सीबीआई को सौंप दी थी लेकिन म्हारा सरकार को डर है कि सीबीआई इस आधार पर महाराष्ट्र में मामले को भी मुंबई पुलिस से ले सकती है।

यह भी पढ़े : कोरोना : 70 लाख के पार पहुंची ठीक होने वाले मरीजों की संख्या, पिछले 24 घंटे में 53370 नए मामले आए सामने 

बता देंगे TRP  के घोटाले में अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी समय दो और चैनल शामिल हुए थे उन पर मुंबई पुलिस ने टीआरपी में हेरफेर का आरोप लगाया था


You can share this post!

0 Comments

Leave Comments