news-details
State

किसान मार्च : अंबाला में रोके जाने पर आक्रोश में दिखे किसान, नदी में फेंक दिए बैरिकेड

कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली की ओर कूच कर रहे किसानों का विरोध प्रदर्शन अब उग्र हो गया है। पंजाब के शंभू बॉर्डर की तरफ से दिल्ली जा रहे किसान प्रदर्शनकारियों ने जहां पुलिस बैरिकेड उठाकर नदी में फेंक दिए, वहीं सड़क पर लगे डिवाइडरों को भी नुकसान पहुंचाया और पुलिस कर्मियों पर पथराव भी किया। 

यह भी पढ़ें : 1 दिसंबर से इस राज्य में लग रहा है नाइट कर्फ्यू, नियमों को तोड़ना पड़ सकता है महंगा 

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब से दिल्ली की तरफ आ रहे एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि हम दिल्ली को कूच कर रहे हैं, वहां रोका जाएगा तो सब सड़कों पर जाम लगा देंगे। हमारे पास 4-5 महीने का सामान है, हजार से ज्यादा ट्रॉलियां जा रही हैं।    

पंजाब के किसान पहुंचे डबवाली सीमा पर, प्रशासन ने रोका
दिल्ली कूच के लिए निकले पंजाब के किसान डबवाली सीमा पर पहुंच गए हैं। पुलिस-प्रशासन ने उन्हें सीमा पर रोका हुआ है। खुईयां मलकाना टोल प्लाजा पर किसानों ने पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला की गाड़ी को भी निकलने नहीं दिया और वापस भेज दिया। वहीं हड़ताल के चलते रोडवेज ने पंजाब में बसें न चलाने का फैसला लिया है।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली से लगे गुरुग्राम और फरीदाबाद के बॉर्डरों पर पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं और वाहनों की भी गहनता से जांच की जा रही है। 

वहीं, दिल्ली-हरियाणा के सिंघू बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है।

यह भी पढ़ें :लखनऊ: एक दिसंबर तक लागू रहेगी धारा 144

हरियाणा ने पंजाब से लगी सीमाएं पूरी तरह सील कीं
हरियाणा ने पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है। पंजाब के किसानों को केन्द्र के कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित 'दिल्ली चलो' मार्च के लिए हरियाणा से लगी सीमाओं के पास इकट्ठा होता देख यह कदम उठाया गया है। अधिकारियों ने बताया कि पंजाब से लगी सीमाओं पर बड़ी संख्या में हरियाणा पुलिस की तैनाती की गई है। उन्होंने बताया कि दिल्ली से लगी सीमाओं पर भी हरियाणा पुलिस को पर्याप्त संख्या में तैनात किया गया है।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments