news-details
State

कोरोना काल : टूटेगी बरसों पुरानी परंपरा, इस बार नहीं खेला जाएगा सिंदूर 

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार बहुत से त्योहार अधूरे लगे  क्योंकि कोरोना संक्रमण फैले होने की वजह से हमें सतर्कता बरतनी पड़ी, वहीं आज यानी सोमवार को दुर्गा पंडालों में खेला जाने वाला सिंदूर खेल का कार्यक्रम अब इस बार नहीं होगा, बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस और लोगों के बीच शारीरिक दूरी बनाए रखने के चलते इस बार वर्षों पुरानी परंपरा को नहीं निभाने का फैसला लिया गया है।

यह भी पढ़े :  दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्रों के पैसों से शिक्षकों को वेतन देने पर कोर्ट ने लगाई रोक

वहीं, देर शाम को मां दुर्गा की मूर्ति का अस्थायी रूप से बनाए गए तालाब में विसर्जन किया जाएगा।बता दें कि इस बार मंदिर मार्ग स्थित कालीबाड़ी मंदिर में आयोजित होने वाली दुर्गा पूजा के मुख्य आयोजक स्वपन गांगुली ने बताया की कोरोना संक्रमण के चलते पहली बार दुर्गा पूजा प्रभावित हुई है। 

जिसकी वजह से दुर्गा पूजा समिति की ओर से कई बड़े बदलाव किए गए है उन्होंने बताया कि पहली बार पांडाल को खुला बनाया गया ताकि हवा पास होती रहे। साथ ही पंडाल में कोई सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रम भी आयोजित नहीं किए गए। करीब 80 साल में पहली बार ऐसा हो रहा है जब दुर्गा पूजा के समापन के मौके पर पश्चिम बंगाल की रहे वाली व दुर्गा पूजा में शामिल होने वाली महिलाएं सिंदूर नहीं खेलेंगी।

यह भी पढ़े : दिल्ली : इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर 3 दिन में मिलेगी सब्सिडी, ऐसे करें अप्लाई

 इस बार कोरोना संक्रमण के चलते यह फैसला लिया गया है कि सिंदूर केवल एक महिला खेलेगी। जो शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मां को सिंदूर चढ़ाएगी। वही शाम पांच बजे मंदिर में मूर्ति का विसर्जन किया जाएगा। यह भी पहली बार हो रहा है जब मूर्ति का मंदिर परिसर के अंदर ही विसर्जन किया जा रहा है। 

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments