news-details
State

सीएम योगी ने जारी किया आदेश, अब पर्यटकों की मदद करेगी UP 112

पर्यटकों को किसी भी आपात स्थिति में मदद देने के लिए यूपी-112 के कर्मचारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आपात स्थिति में पर्यटकों की मदद के लिए यह पहल की गई है। 

यह भी पढ़ें : लखनऊ : दिवाली के बाद से लगातार बढ़ रहा है कोरोना का खतरा, अफसर कर रहे हैं नजरअंदाज

18 विदेशी भाषाओं में बात करने की सुविधा
यह जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पर्यटकों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए पुलिस विभाग की आपात सेवा 112 ने अपने कर्मचारियों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम शुरू किया है। 

यह प्रशिक्षण इस संबंध में है कि आपात स्थिति में पर्यटकों को किस तरह की मदद की आवश्यकता हो सकती है और उनको कैसे सहायता पहुंचायी जाए? यूपी 112 ने 18 विदेशी भाषाओं में बात करने की सुविधा भी उपलब्ध कराई है, ताकि बाहर से आने वाले पर्यटकों को किसी भी आपात स्थिति में भाषा संबंधी दिक्कतों का सामना न करना पड़े। विदेशी भाषाओं में बात करने के लिए अनेक नागरिक वालंटियर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। 

विदेशी पर्यटकों की संख्या को देखते हुए इंग्लिश, फ्रेंच, स्पैनिश, उर्दू, मलेशियन व कोरियन आदि भाषाओं के वालंटियर अपनी सेवाएं दे रहे हैं तथा विदेशी भाषा के कॉल आने पर संबंधित वालंटियर को कांफ्रेंस पर लेकर अनुवाद कराया जाता है।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़, सात लोगों को किया गया गिरफ्तार

पर्यटकों को एंबुलेंस सहायता भी उपलब्ध
यूपी 112 के एडीजी असीम अरुण ने बताया कि प्रदेश सरकार ने अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के तहत 112 को आपातकालीन नंबर के रूप में चुना है। बीमार होने की स्थिति में पर्यटकों को 112 की तरफ से एम्बुलेंस की सहायता भी उपलब्ध कराई जाएगी। लखनऊ, आगरा, मथुरा व कुशीनगर आदि शहरों में पर्यटन पुलिस की सुविधा भी उपलब्ध है। इन शहरों में यूपी 112 और पर्यटन पुलिस आपसी समन्वय स्थापित कर पर्यटकों को सहायता पहुंचाती है। पर्यटन स्थलों पर पीआरवी पर्यटक, प्रशासन व जिला पुलिस के बीच सेतु के रूप में कार्य कर रही है।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments