news-details
State

कहीं तेजस एक्सप्रेस की तरह बंद न करनी पड़ जाए ये भी ट्रेन

शताब्दी एक्सप्रेस के टिकट बेस फेयर पर भी नहीं बिक रहे हैं। 794 तक सीटें चेयर कार में खाली हैं। यात्री नहीं मिलने से अधिकारी परेशान हैं। आशंका जताई जा रही है कि तेजस की तरह कहीं शताब्दी को भी बंद न करना पड़ जाए।

यह भी पढ़ें : पुलिस कमिश्नर लखनऊ द्वारा कई थाना क्षेत्रों का किया गया औचक निरीक्षण, दिए गए दिशा निर्देश 

लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली के बीच चलने वाली शताब्दी में डायनमिक फेयर लागू है। इससे हर 10 फीसदी सीटों के बाद किराए में 10% की वृद्धि हो जाती है। लेकिन खास बात यह है कि ट्रेन की पहली 10% सीटों पर ही बुकिंग नहीं हो रही है। शताब्दी में औसतन 30 से 40 फीसदी बुकिंग हो रही है।  मालूम हो कि यात्री न मिलने के चलते तेजस एक्सप्रेस का संचालन 23 नवंबर के बाद से अगले आदेश तक बंद किया जा रहा है।

इतनी सीटें शताब्दी में खाली

शताब्दी की चेयर कार में 20 से 25 नवंबर तक क्रमश: 503, 401, 202, 627, 711, 794 सीटें खाली हैं। इन तारीखों पर शताब्दी की एग्जीक्यूटिव क्लास में 20 नवंबर को 3, 21 को दो, 22 को 4 वेटिंग चल रही है। जबकि 23 को 4, 24 को 10, 25 को 12 सीटें खाली हैं और शताब्दी के अनुभूति कोच में 20 से 25 तक 17, 19, 14, 24, 24 व 25 सीटें खाली हैं।

यह है किराया, डायनेमिक फेयर जीरो
फिलहाल शताब्दी के चेयर कार का किराया 820 रुपये है, इसमें बेस फेयर 695 रुपये, रिजर्वेशन चार्ज 40, सुपर फास्ट चार्ज 45 और जीएसटी 39 रुपये शामिल है। वहीं, एग्जीक्यूटिव क्लास का कुल किराया 1770 रुपये है, जिसमें बेस फेयर 1550 रुपये, रिजर्वेशन चार्ज 60, सुपर फास्ट चार्ज 75 और जीएसटी 85 रुपये है। ऐसे ही अनुभूति कोच का किराया 2095 रुपये है, इसमें बेस फेयर 1860 रुपये, जीएसटी 100, रिजर्वेशन चार्ज 60 और सुपरफास्ट चार्ज 75 रुपये है। तीनों श्रेणियों में डायनमिक चार्ज जीरो है। 

यह भी पढ़ें : लव जिहाद पर सख्त कानून बनाने की तैयारी कर रहे सीएम योगी, कानून विभाग को भेजा प्रस्ताव

लॉकडाउन की आशंका से घट रहे यात्री
लखनऊ से दिल्ली के बीच चलने वाली दूसरी गाड़ियों में भी यात्रियों की संख्या लगातार कम हो रही है। इसकी एक प्रमुख वजह बताई जा रही है कि दिल्ली में दोबारा लॉकडाउन की आशंका बढ़ गई है।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments