news-details
State

राजधानी लखनऊ में 5 अप्रैल तक लगाई गई धारा 144, क्या किसान आंदोलन का है डर ?

देश  में केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन चल रहा है, आप को बता दें कि पश्चिम यूपी के भी कई जिलों में किसान महापंचायतें हो चुकी हैं, जानकारों की मने तो अब कृषि क़ानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन को देश के अलग-अलग हिस्सों में ले जाने की तैयारी की जा रही है, इसको लेकर उत्तरप्रदेश की योगी सरकार पहले से ही सतर्क होती नज़र आरही है, ऐसे किसी भी हालात से निपटने के लिए राजधानी लखनऊ में धारा 144 लगा दी गई है।

यह भी पढ़े : लखनऊ आ रही थी इंडिगो विमान, कराची में हुई आपात लैंडिंग लेकिन नहीं बच सकी जान 

किसान आंदोलन के डर से लगी धारा 144
 
राजधानी लखनऊ में धारा 144 लगने के बाद से सोशल मीडिया पर कई तरह की बातें हों रही है, लेकिन लखनऊ पुलिस की ओर से जारी आदेश में साफ किया गया है कि आगामी त्योहारी सीजन और किसान आंदोलन को देखते हुए धारा 144 लगाने का फैसला लिया गया है। वहीं जेसीपी नवीन अरोड़ा की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कई राजनीतिक दल, छात्र संगठन और किसान संगठन लखनऊ में आंदोलन कर माहौल खराब कर सकते हैं।

यह भी पढ़े : नगर पालिका व पंचायत की 80 फ़ीसदी सीटों पर भाजपा को बढ़त

इसके अलावा अगले कुछ दिनों के दौरान महाशिवरात्रि, गुड फ्राइडे, होली, शबे बारात, ईस्टर जैसे त्योहार हैं, इसलिए 5 अप्रैल 2021 तक राजधानी में सीआरपीसी की धारा 144 लगाने का फैसला किया गया है।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments