news-details
State

UP के विश्वविद्यालयों में अब नहीं कराई जाएगी स्थगित परीक्षा, सरकार का मुहर लगना बाकी 

डेस्क : कोरोना महामारी के चलते देशभर में पिछले करीब साढ़े 3 महीने से लॉकडाउन लागू था। जिससे यूपी के विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी। देशभर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू हुआ और सभी परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ीं. पिछले दिनों कुछ विश्वविद्यालयों ने स्थगित परीक्षा के लिए तिथियों का ऐलान भी कर दिया था,  जिससे छात्रों ने नाराजगी जताई थी और परीक्षा न करवाने के लिए जमकर विरोध किये थे। 


यह भी पढ़ें : कानपुर की सर्चलाइट रखेगी चीन सीमा पर नजर,जानिए क्या है खासियत 

बता दें कि अब छात्रों के लिए राहत भरी खबर है. यूपी के विश्वविद्यालयों में अब स्थगित परीक्षा नहीं कराई जाएगी. बगैर परीक्षा के ही छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया जाएगा. बता दें कि यूपी के विश्वविद्यालयों में 48 लाख छात्र पंजीकृत हैं. यह निर्णय स्थगित परीक्षा को लेकर सरकार की ओर से बनाई गई कुलपतियों की चार सदस्यीय समिति ने लिया है.

 अभी सरकार की मुहर नहीं लगी   

समिति ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है. हालांकि, इस पर अभी सरकार की मुहर नहीं लगी है. बताया जाता है कि अगली बैठक में इस पर सरकार आधिकारिक रूप से निर्णय लेगी, लेकिन अब बगैर परीक्षा के ही छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाना तय माना जा रहा है. 

यह भी पढ़ें : योगी सरकार ने दिया यूपी बोर्ड टॉपर्स को गिफ्ट, मिलेगा 1 लाख रुपये-लैपटॉप व घर तक पक्की सड़क

सरकार ने समिति से स्थगित परीक्षा कराने के संबंध में रिपोर्ट मांगी थी. अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मनोज दीक्षित भी इस समिति के सदस्य हैं. बता दें कि विश्वविद्यालयों में परीक्षा कराने और सेशन को लेकर यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने भी एक समिति बनाई थी. यूजीसी की समिति ने भी अपनी रिपोर्ट में परीक्षाएं कराए बगैर छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने की सिफारिश की है.  

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments