news-details
analysis

भारत मे कोरोना दस्तक के 6 महीने पूरे, जानें कितना सफल हुआ भारत

पूरे विश्वभर में कोरोना का कहर चरम पर है। आपको बता दें  30 जुलाई, 2020 को भारत में कोरोना के छह महीने पूरे हो गए हैं. कोरोना संक्रमण के आंकड़ों पर नज़र रखने वाली वेबसाइट वर्ल्डोमीटर के मुताबिक ठीक छह महीने के बाद भारत में कोरोना संक्रमण का कुल आंकड़ा 1,583,793 पहुंच गया है. मौतों का कुल आंकड़ा 35,000 के पास पहुंच गया है. कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 1,020,582 है और अब भी देश में 528,242 ऐक्टिव केस हैं.

विश्वभर की बात करें तो कोरोना कहर भारत में शीर्ष तीन दशों में शामिल है

अमेरिका है सबसे अधिक प्रभावित
कोरोना संक्रमित आंकड़ों की बात करें तो सबसे अधिक प्रभावित देशों में अमेरिका पहले स्थान पर है। अमेरिका में कोरोना का पहला मामला भारत से 10 दिन पहले सामने आया था. वहां पर 20 जनवरी को वॉशिंगटन के एक शख्स में कोरोना की पुष्टि हुई थी. तब से अब तक कुल 4,526,481 मामले सामने आए हैं. कुल 152,929 लोगों की मौत हुई है. 2,212,227 लोग बीमारी से ठीक हुए हैं और अब भी 2,161,325 लोगों का इलाज चल रहा है. 

यह भी पढ़ें : Sushant Sucide Case : Supreme Court ने खारिज की CBI जांच की मांग

ब्राजील है दूसरे पायदान पर

बता दें वहीं दूसरे नंबर पर है ब्राजील. वहां 25 फरवरी को साओ पोलो में पहला केस दर्ज किया गया था. यानि वहां भारत की तुलना में 25 दिन बाद कोरोना ने दस्तक दी थी. वहां अब तक कुल 24,98668 मामले सामने आ चुके हैं. कुल 88,792 लोगों की मौत हुई है. 1,721,560 लोग इस बीमारी से ठीक हुए हैं और अब भी 688,316 लोगों का इलाज चल रहा है.

आबादी की तुलना के अनुसार भारत अच्छी स्थिति में

अगर अमेरिका और ब्राजील देश की आबादी के मुकाबले भारत की आबादी की तुलना करें, तो भारत कई गुना बेहतर स्थिति में हैं. अमेरिका की आबादी महज 33 करोड़ है. ब्राजील की भी आबादी महज 21 करोड़ के आस पास है, वहीं भारत की आबादी करीब 130 करोड़ है. लेकिन कुछ और आंकड़े है जिसे हम नकार नहीं सकते हैं। आपको बता दें अमेरिका में हर 10 लाख की आबादी पर 1,69,553 लोगों की जांच हुई है. ब्राजील में भी हर 10 लाख की आबादी पर 59,251 लोगों की जांच हुई है. जबकि भारत में हर 10 लाख की आबादी पर महज 13,000 लोगों की ही जांच हो रही है. और इस मामले में भारत दुनिया के कई और देशों से कई गुना पीछे है.

दूसरे देशों की तुलना में भारत में हो रहे हैं कम टेस्ट

टेस्ट के आंकड़ों की बात करें तो भारत में दूसरे देश की तुलना में यहां कम टेस्ट हो रहे हैं। बता दें ब्रिटेन में हर 10 लाख की आबादी पर करीब 2 लाख टेस्ट हो रहे हैं. रूस में 1 लाख 80 हजार, स्पेन में डेढ़ लाख टेस्ट हो रहे हैं.
 सऊदी अरब भी हर 10 लाख लोगों में से एक लाख लोगों की जांच कर रहा है. कनाडा, कतर और कजाकिस्तान जैसे देश भी एक लाख से ज्यादा टेस्ट कर रहा है, जबकि भारत में ये आंकड़ा 20 हजार तक भी नहीं पहुंच पाया है. और ये स्थिति तब है, जब भारत में कोरोना को दाखिल हुए छह महीने से ज्यादा का वक्त बीत चुका है. 

मौत की दर में कमी
भारत की सबसे बड़ी उपलब्धि ये है कि मौत की दर को कम किया है. भारत में कोरोना का रिकवरी रेट भी 64.51 फीसदी तक पहुंच गया है. भारत में हर दिन करीब साढ़े चार लाख सैंपल की जांच हो रही है. इन छह महीनों में भारत ने कुल 1,77,43,740 सैंपल की जांच की है.  हर रोज 30 हजार से ज्यादा लोग ठीक होकर अपने घरों को जा रहे हैं. 

मौतों की दर है 2.23 फीसदी  

 भारत में कोरोना से होने वाली मौतों की दर 2.23 फीसदी है, जबकि दुनिया में ये औसत 4 फीसदी का है. इस लिहाज से भारत बेहतर स्थिति में है.

ठीक होने वालों का आंकड़ा और बीमार होने वालों के आंकड़े का अंतर भी लगातार बढ़ रहा है.

इसके अलावा भारत ने वैक्सीन बनाने की ओर भी अपने कदम बढ़ा दिए हैं. यहां पर वैक्सीन के दो फेज का ट्रायल पूरा हो चुका है और तीसरे फेज का ट्रायल शुरू हो गया है. 

50 हज़ार से अधिक नए मामले आ रहे सामने

 बता दें हर दिन कोरोना के नए आंकड़े सामने आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 52 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले बढ़े हैं. इससे पहले सबसे ज्यादा 49,931 मामले 27 जुलाई को दर्ज किए गए थे. राज्यों के आंकड़े देखने पर पता चलता है कि स्थितियां कितनी खराब होती जा रही हैं. 

यह भी पढ़ें : भारतीय वायुसेना के हुए राफेल लड़ाकू विमान, वायु सेना ने कहा- गोल्डेन एरो का स्वागत है

आंध्र प्रदेश में हालात हो रहे हैं बेकाबू

बता दें भारत का सबसे अधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र था लेकिन अब आंध्र प्रदेश में कोरोना संक्रमित की संख्या में तेजी से इजाफ़ा हो रहा है। बता दें आंध्र प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 7948 नए केस सामने आए हैं. दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र है जहां 7717 मामले सामने आए हैं. तीसरा नंबर है तमिलनाडु का, जहां 6972 मामले सामने आए हैं. कर्नाटक में भी पांच हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं. उत्तर प्रदेश में भी 3400 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. तेलंगाना, मिजोरम और लक्षद्वीप तीन ऐसे राज्य हैं, जहां पिछले 24 घंटे में कोई नया केस सामने नहीं आया है.

पिछले 24 घंटे में भारत में आए सबसे अधिक नए मामले

पूरे विश्वभर में पिछले 24 घंटे के आंकड़ों की बात करें तो इसमें भारत  का बुरा हाल  है। 24 घंटे में सामने आए नए केसों के लिहाज से भारत अब पहले नंबर पर पहुंच गया है. अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 32 हजार केस सामने आए हैं, जबकि ब्राजील में ये आंकड़ा 14 हजार के आस-पास है. वहीं भारत में केस 48 हजार के पार हैं. इन आंकड़ों से इस बात का अंदाजा लगाना मुश्किल है कि भारत इस कोरोना महामारी से कब मुक्ति पायेगा। 

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments