news-details
news

महत्वपूर्ण : 18 सितंबर से SBI ATM से पैसे निकालने के नियम में हो जाएगा बदलाव

कोरोना काल में बैंक फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के कड़े नियमों के बावजूद बैंकों में धोखाधड़ी हो ही जाती है। जालसाज आम लोगों को लूटने का कोई न कोई तरीका ढूंढ लेते हैं। बढ़ते फ्रॉड को ध्यान में रखते हुए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को राहत दी है। एसबीआई ने सुरक्षित बैंकिंग उपलब्ध कराने के लिए नई एटीएम सर्विस शुरू की है।

 OTP आधारित एटीएम कैश विड्रॉल सुविधा  

एसबीआई ने वन टाइम पासवर्ड (OTP) आधारित एटीएम कैश विड्रॉल सुविधा को 24 घंटे लागू करने का फैसला किया है। 18 सितंबर से यह नियम देशभर में लागू हो रहा है। मौजूदा समय में यह सुविधा रात में आठ बजे से सुबह आठ बजे तक उपलब्ध है। बैंक में ग्राहक की ओर से दिए गए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा, जिसके जरिए पैसों की निकासी होगी। 

यानी 18 सितंबर से एसबीआई के एटीएम से 10,000 रुपये या इससे ज्यादा राशि निकालने पर दिन में भी ओटीपी की जरूरत होगी। 

अपडेट करा लें मोबाइल नंबर 
एक जनवरी 2020 से एसबीआई ने एटीएम से निकासी के लिए ओटीपी जरूरी किया था। एसबीआई ने कहा है कि ग्राहक बैंक में अपना मोबाइल नंबर अपडेट करा लें। 

यह भी पढ़ें : लगातार तीसरे दिन सोने की रेट में हुआ इजाफ़ा , चांदी में आई गिरावट

ऐसे होगी निकासी
प्रक्रिया के तहत जब आप पैसों की निकासी कर रहे होंगे, तब एटीएम की स्क्रीन पर रकम के साथ-साथ ओटीपी स्क्रीन भी दिखाई देगी। ग्राहकों को ओटीपी उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इससे धोखाधड़ी की संभावनाएं कम होंगी।

ध्यान रहे कि ओटीपी आधारित नकद निकासी की सुविधा केवल एसबीआई एटीएम में ही उपलब्ध है। अन्य बैंकों के एटीएम में यह कार्यक्षमता नेशनल फाइनेंशियल स्विच (NFS) में विकसित नहीं की गई है।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments