news-details
news

आज ही के दिन हुआ था मुंबई में आतंकी हमला, बीत गए 12 साल 

26 नवंबर 2008 को मुंबई पर एक आतंकी हमला हुआ था। जिसे आज 12 साल पूरे हो चुके हैं। 10 आतंकवादियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। जिसमें लगभग 166 लोग मारे गए थे। आज उसी मुंबई अटैक की 12वीं बरसी हैं। उस दौरान शहीद हुए सुरक्षा कर्मियों को बृहस्पतिवार को श्रद्धांजलि दी गई। मुंबई पुलिस ने ट्वीट किया कि उनका बलिदान स्मृति और इतिहास से कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। आज हम 26/11 हमलों के शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : सर्वे में आया सच, भारत में हैं सबसे ज्यादा भ्रष्टाचारी 

शहीद के परिजन भी होंगे शामिल
हमले में शहीद पुलिसकर्मियों को राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दिन को याद रखने के लिए अधिकारियों ने दक्षिण मुंबई के पुलिस मुख्यालय में एक कार्यक्रम रखा गया है। इस कार्यक्रम में शहीद के परिजन भी शिरकत करेंगे।

इतने लोगों की मौत, इन जगहों को बनाया था निशाना
इस हमले में आतंकियों ने मुंबई की शान ताज होटल, होटल ट्राइडेंट, नरीमन प्‍वाइंट, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, चाबड़ हाउस, कामा अस्‍पताल, मेट्रो सिनेमा और लियोपार्ड कैफे को निशाना बनाया था। उन्होंने उन्हीं जगहों को चुना जहां भीड़ ज्यादा थी। इस हमले में 160 से ज्यादा लोगों की बड़ी निर्ममता से हत्‍या कर दी गई थी। साथ ही  300 से अधिक लोग घायल हुए थे।

समुद्र के रास्ते मुंबई में घुसे थे पाक के आतंकी
मुंबई में 26 नवंबर 2008 को आतंकियों ने इस घटना को अंजाम दिया था। हर रोज की तरह  मुंबई अपने जोर में चल रही थी, शाम के समय पाकिस्तान से लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकी समुद्र के रास्ते से मुंबई में घुस आए थे। अरब सागर से होते हुए ये आतंकी मुंबई पहुंचे। इनके पास बैग में 10 एके-47, 10 पिस्टल, 80 ग्रेनेड, 2 हजार गोलियां, 24 मैगजीन, 10 मोबाइल फोन, विस्फोटक और टाइमर्स रखे थे। रात 8 बजे के आस-पास कसाब समेत उनके 9 साथियों ने मुंबई में कदम रखा। इसके बाद ये अलग-अलग गुटों में बंट गए थे।

यह भी पढ़ें : कोरोना: प्रदूषण की वजह से मरने वालों की संख्या ने पकड़ी रफ़्तार

29 नवंबर की सुबह खत्म हुआ था मौत का तांडव
ये आतंकी हमला 26 नवंबर की रात से शुरु हो कर 29 नवंबर की सुबह खत्म हुआ था। इस हमले में 160 से ज्यादा लोगों की मौत हुई और 9 आतंकियों को ढेर कर दिया गया था। जबकि कसाब को जिंदा पकड़ा गया था। उसे 21 नवंबर 2021 को फांसी दी गई। वहीं इस हमले में मुंबई पुलिस, ATS और NSG के 11 जवान शहीद हुए थे। 

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments