news-details
politics

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 होगा नीतीश कुमार का आखिरी चुनाव

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा है कि यह उनका आखिरी चुनाव है। गुरुवार को पूर्णिया में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने इस बात की घोषणा की। पूर्णिया जिले की धमदाहा विधानसभा सीट से एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे नीतीश कुमार ने कहा, 'जान लीजिए, आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है। परसो मतदान होगा। ये मेरा अंतिम चुनाव है। अंत भला तो सब भला।

यह भी पढ़ें : बिहार के कटिहार में सीएम योगी की हुंकार, बोले, जीत के बाद घुसपैठिए को करेंगे बाहर

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के तीसरे और अंतिम चरण के लिए शनिवार को मतदान होगा। इसके लिए आज शाम पांच बजे प्रचार अभियान थम जाएगा। आखिरी दिन प्रचार करते हुए नीतीश कुमार ने इस चुनाव को अपना अंतिम चुनाव करार दिया है। बता दें कि नीतीश कुमार 2005 से ही बिहार के मुख्यमंत्री हैं। 

मुख्यमंत्री बनने से पहले वे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में रेल मंत्री रहे। आज की जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने अपने पुराने दिनों को भी याद किया और कहा कि रेल मंत्री रहते हुए भी मैं लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए तत्पर रहता था।

जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने अगले पांच साल का खांका भी पेश किया। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में औधोगिक नीति लागू की जाएगी, जिसकी पूरी तैयारी की जा चुकी है।  बिहार में औधोगिक नीति लागू होने के बाद बिहार से पलायन समाप्त हो जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार लगातार विकास के पथ पर चल रहा है।

यह भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल के दौरे पर अमित शाह ने कहा दो तिहाई बहुमत से बनेगी सरकार 

विपक्ष पर हमलावर होते हुए उन्होंने कहा कि वे सिर्फ अपने परिवार की बात करते हैं और एनडीए बिहार के करोड़ो परिवार की बात करता है। अब बिहार के लोगों को चुनना है कि उन्हें कौन सरकार चाहिए। सीएम नीतीश ने कहा कि हर राज्य से आंकड़े के अनुसार बिहार में अपराध में नियंत्रण हुआ है और विकास का दर और आय में वृद्धि हुई है। दोबारा सरकार में आने का मौका जनता देती है तो  पूरे राज्य में उद्योग का जाल बिछाया जाएगा ताकि न केवल बिहार के लोगों को रोजगार मिलेगा बल्कि बाहर के लोग भी बिहार रोजगार करने आएंगे।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments