news-details
politics

सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहींं - सचिन पायलट का ट्वीट 

राजस्थान में सियासी संकट के चलते कांग्रेस विधायक दल की बुलाई बैठक में शामिल नहीं होने पर सचिन पायलट को को उप-मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से कांग्रेस ने विधयाको की बहुमत के आधार पर हटाकर पार्टी ने आज बड़ी कार्रवाई करी  जिसके बाद सचिन पायलट ने  अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं। आप को बता दें सचिन पायलट कि जगह गोविंद सिंह डोटासरा को अध्यक्ष बना दिया गया है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म होने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्रा से मुलाकात की।

यह भी पढ़े : सचिन पायलट उपमुख्यमंत्री और Pcc अध्यक्ष पद से हटाए गए

कलराज मिश्रा ने डिप्टी सीएम पद से सचिन पायलट और विश्वेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्री पद से हटाने के दिए गए प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया कांग्रेस ने पायलट के अलावा उनके समर्थक इन दो विधायकों पर भी कार्रवाई करी है क्योंकि वो भी बैठक में आमंत्रण के बावजूद भी उपस्थित नहीं हुए।इससे पहले जयपुर में कांग्रेस मुख्यालय से सचिन पायलट की नेम प्लेट हटा दी गई, बैठक में मौजूद 102 विधायकों ने सर्वसम्मति से सचिन पायलट को पार्टी से बाहर कर देने की मांग की थी। 

यह भी पढ़े : कांग्रेस विधायक दल की बैठक जारी,फ्लोर टेस्ट को लेकर भाजपा बोली......

सूत्रों की माने तो इस पूरे राजनीतिक घटनाक्रम पर भारतीय जनता पार्टी अपनी नजर बनाए हुए है। एक निजी समाचार एजेंसी के अनुसार राज्य में भारतीय  जानत पार्टी  के राज्य कार्यालय में एक बैठक हुई, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव वी. सतीश, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर मौजूद रहे। इससे पहले राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस दावा करती रही है कि उनके नेता एकजुट हैं, लेकिन यह स्पष्ट है कि आंतरिक विवाद हैं

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments