news-details
sport

हार्दिक पांड्या के पिता का हुआ निधन, क्रुणाल ने बीच में छोड़ा टूर्नामेंट

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक और क्रुणाल पांड्या के पिता का शनिवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने के बाद निधन हो गया। इस दुःखद खबर के बाद बरोदा की तरफ से सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी खेल रहे कप्तान क्रुणाल पांड्या बायो बबल छोड़कर घर के लिए रवाना हो गए। 

यह भी पढ़ें :जो बाइडेन ने किया 138 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान

बड़ौदा क्रिकेट संघ के सीईओ शिशिर हत्तंगड़ी ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि क्रुणाल ने बायो बबल छोड़ दिया है। यह एक व्यक्तिगत त्रासदी है और बड़ौदा क्रिकेट संघ हार्दिक और क्रुणाल के इस दुःख में साथ खड़ा है। 

बता दें कि हार्दिक और क्रुणाल को क्रिकेटर बनाने में उनके पिता का अहम योगदान रहा। उन्होंने आर्थिक स्थिति खराब रहने के बावजूद पैसे जुटाकर अपने दोनों बेटों को किरण मोरे क्रिकेट अकादमी में भेजा था। खुद हार्दिक भी अपने पिता के योगदान को कई बार स्वीकारते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रपति कोविंद ने राम मंदिर के लिए दियापांच लाख 100 रुपये का चेक

इरफान पठान ने दी श्रद्धांजलि
पूर्व भारतीय क्रिकेटर और बड़ौदा के कप्तान रह चुके इरफान पठान ने हार्दिक और क्रुणाल के पिता के निधन पर दुःख जताया है और अपनी श्रद्धांजलि दी है। पठान ने अपनी पहली मुलाकात को याद करते हुए लिखा, 'याद आ रहा है जब मैं अंकल से पहली बार मोतीबाग में मिला था। वह अपने बेटों को अच्छा क्रिकेट खेलता देखने के लिए उत्सुक थे। आपके और आपके पूरे परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। भगवान आपको इस कठिन वक्त से गुजरने की शक्ति दे।'

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments