news-details
sport

World Cup 2019: वो दिन जिसने भारतीय टीम के साथ पूरे देश की आंखों में ला दिए थे आंसू 

स्पोर्ट्स डेस्क : 10 जुलाई विश्व कप सेमीफाइनल की शाम जहां न्यूजीलैंड से भारत की टक्कर हुई थी। भारत को उस दिन मिली हार ने भारतीय क्रिकेट टीम के अलावा पूरे देश की आँखों में आंसू ला दिए थे। आज भी ये  कड़वी यादें भारतीय खेल प्रेमियों के दिल में ताजा है। बता दें भारत ने बारिश से प्रभावित यह मैच सिर्फ 18 रन से गंवाया था। इस हार के बाद कई माह तक स्पिनर युजवेंद्र चहल सदमे में था। इसका खुलासा उन्होंने विश्व कप खत्म होने के बाद बाद एक इवेंट में बताया था।

वर्षाबाधित मैच के पहले दिन यानी 9 जुलाई को न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर खेलना शुरू किया। बीच मेें मैच रोकना पड़ा और 10 जुलाई को वही से शुरू किया गया। भारत के सामने कीवी टीम ने 240 रन का लक्ष्य रखा। टीम इंडिया का स्कोर एक समय छह विकेट पर 92 रन था, लेकिन धोनी ने रवींद्र जडेजा के साथ 116 रन की साझेदारी करके टीम को जीत के करीब पहुंचा दिया था। धोनी के 50 रन के निजी योग पर रन आउट होने के बाद भारत की जीत की उम्मीदें समाप्त हो गई थी।

यह भी पढ़ें : ENG Vs WI: आज से मैदान पर उतरेंगे इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाड़ी, 117 दिन बाद दिखेगी हलचल 

आंसू रोकना हो गया था मुश्किल 

लेग स्पिनर ने ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले गए इस मैच के कई माह बाद कहा था कि जब महेंद्र सिंह धोनी आउट हुए तो उनके लिए अपने आंसू रोकना मुश्किल हो गया था। चहल ने एक इवेंट में कहा, 'यह मेरा पहला विश्वकप था और माही भाई (धोनी) के आउट होने पर मुझे बल्लेबाजी के लिए जाना था। मैं अपने आंसू रोकने की कोशिश कर रहा था। यह काफी तनावपूर्ण था।

उन्होंने कहा, 'हम 9 मैचों में बहुत अच्छा खेले, लेकिन अचानक हम टूर्नामेंट से बाहर हो जाते हैं। बारिश पर हमारा वश नहीं है इसलिए (व्यवधान के लिए) कुछ कहना सही नहीं होगा। यह पहला अवसर था जबकि हम वास्तव में मैदान से जल्द से जल्द होटल लौटना चाहते थे।' भारत लीग चरण में नौ मैचों में सात जीत से शीर्ष पर रहा था।

You can share this post!

0 Comments

Leave Comments